ALL Event Social Knowledge Career Religion Sports Politics video Astrology Article
अभीज्ञ आनंद की कोरोना के संबंध में की गई भविष्यवाणी का सच
April 16, 2020 • साभार : thelallantop.com • Knowledge

दावा

सोशल मीडया पर 14 साल के एक बच्चे की तस्वीर दिखाकर दावा किया जा रहा है कि उसने कोरोना वायरस की भविष्यवाणी डेढ़ साल पहले ही कर दी थी. दावा किया जा रहा है कि डेढ़ साल पहले इस बच्चे का मज़ाक उड़ाया गया था लेकिन अब इसकी बातें सही साबित हो रही हैं.

दावा विस्तृत है, हम दावे में बिना बदलाव किए ज्यों का त्यों लिख रहे हैं-

यह 14 साल का बच्चा जिसका नाम अभीज्ञ आनंद है। यह कर्नाटक का रहने वाला है इसने डेढ़ साल पहले ही अपने यूट्यूब चैनल conscience पर भविष्यवाणी कर दी थी की 2020 में मनुष्य और इंसान के बीच में भयानक जंग होगी।
जिसमें पूरी दुनिया त्राहिमाम त्राहिमाम हो जाएगी। 31 अप्रैल 2020 से अचानक इस बीमारी में विस्फोट होगा जिसमें कई देश इस में समा जाएंगे! इसने वही सुरक्षित रहेगा जो घर में रहेगा बाकी सब कुछ खत्म हो जाएगा ।
29 मई तक विश्व की 80 पर्सेंट आबादी वायरस से ग्रसित हो जाएगी और विश्व की 20 पर्सेंट आबादी इसमें खत्म हो जाएगी। 30 मई से इसमें सुधार होने लगेगा जो 5 सितंबर तक चलेगा इस वायरस से अंतिम मौत 10 सितंबर को होगी उसके बाद या वायरस पूर्णतया खत्म हो जाएगा। परंतु इसके बाद कई देश भूखमरी से ग्रसित हो जाएंगे चारों और लूटपाट मचाएंगे कई देश अपना वर्चस्व खो देंगे।
जब इस बालक नहीं है वीडियो डाला था तो कई लोगों ने और भविष्य कर्ताओं ने इसका मजाक उड़ाया था मगर आज जब इसकी भविष्यवाणी वाला वह वीडियो सही हुआ तो सब लोग इसकी को पूछ रहे हैं।

 

 

शब्दश: इसी दावे के साथ एक वीडियो भी वायरल हो रहा है. इसमें अभीज्ञ आनंद नाम का ये बच्चा कोरोना के इलाज के लिए कुछ मंत्र बताता है और दावा करता है कि भगवान राम और कृष्ण का नाम लेने से कोरोना ख़त्म हो जाएगा।

यानी मोटे तौर पर दो दावे किए जा रहे हैं

1. अभीज्ञ आनंद ने कोरोना वायरस की भविष्यवाणी डेढ़ साल पहले ही कर दी थी
2. अभीज्ञ आनंद दावा कर रहे हैं कि मंत्रोच्चार से कोरोना ख़त्म हो जाएगा.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने दावे की पड़ताल की. हमारी पड़ताल में ये दावा झूठ और भ्रामक निकला.
दावे में अभीज्ञ के यूट्यूब चैनल का नाम दिया था- conscience. हमने यूट्यूब पर खोजा तो हमें एक वीडियो मिला जिसका टाइटल था-

SEVERE DANGER TO THE WORLD FROM NOV 2019 TO APRIL 2020—Abhigya in English and Hindi

अभीज्ञ ज्योतिषी होने का दावा करते हैं. अपने इस वीडियो में अभीज्ञ आनंद का दावा है कि नवंबर 2019 से अप्रैल 2020 तक, दुनिया पर बड़ा खतरा आने वाला है. 22 अगस्त, 2019 को अपलोड हुआ 20 मिनट 52 सेकेंड का ये वीडियो क़रीब 50 लाख बार देखा जा चुका है.

हमने ये वीडियो पूरा सुना. इसमें अभीज्ञ ने जो दावे किए हैं, वो यहां लिख रहे हैं. अभीज्ञ ने इन दावों के पीछे शनि, केतु, शुक्र ग्रहों को वजह बताया है. हम इन ग्रहों की कथित स्थितियों के बारे में कुछ नहीं लिख रहे हैं. बस जो दावा इस वीडियो में अभीज्ञ ने किया है, वो बता दे रहे हैं आपको. अभीज्ञ ने कहा है कि नवंबर 2019 से अप्रैल 2020 के बीच-
1. भारत और पाकिस्तान के बीच जंग होने की 99% तक संभावना है.
2.सोना, चांदी और तेल के दाम बहुत बढ़ेंगे.
3. मध्य एशिया में अमेरिका-ईरान के बीच जंग छिड़ जाएगी.
4. भारत ऊर्जा का भंडार है, यहां ऊर्जा के बहुत पॉइंट हैं. जैसे हाथ में एक्यूप्रेशर के पॉइंट्स होते हैं.

 

 

ऊपर लिखी सारी बातें अभीज्ञ पहले इंग्लिश में बोलते हैं, बाद में 15.46 सेकेंड से इसका हिंदी अनुवाद शुरू होता है. इसमें भी यही दावे हिंदी में दोहराए जाते हैं.

 

 

22 अगस्त, 2019 को अपलोड किए गए इस वीडियो में नवंबर, 2019 से अप्रैल, 2020 के बीच जंग होने की बात है. बीमारी की बात कहीं नहीं हुई है. किसी वायरस या रोग की बात कहीं नहीं है. क्रमवार सभी दावों के देखते हैं-

1. भारत और पाकिस्तान के बीच जंग होने की 99% संभावना का दावा झूठ साबित हुआ है. नवंबर 2019 से अप्रैल 2020 तक दोनों देशों के बीच युद्ध वाले हालात नहीं बने हैं. हां, सीज़फायर उल्लंघन की घटनाएं होती रही हैं.
2. किसी भी युद्ध का असर अर्थव्यवस्था पर होता है. दावा है कि दिए वक्त में सोना-चांदी और तेल के दाम बढ़ेंगे. ये तय मानक नहीं है. कोरोना के बाद से बाज़ारों में अस्थिरता है. सोने-चांदी के दाम बढ़ते-घटते रहे हैं.
वहीं, कच्चे तेल के दामों में दावे के उलट भयंकर गिरावट आई है.

3. तीसरा दावा था, अमेरिका-ईरान के बीच जंग. जो नहीं हुई. हां, दोनों देशों में 2019 की शुरुआत से ही तल्ख़ी है. जो अब भी बरक़रार है. यानी जब अभीज्ञ ने 22 अगस्त, 2019 को वीडियो अपलोड किया था, उस वक्त भी दोनों देशों में तल्ख़ी थी.
4. चौथा दावा कि भारत में ऊर्जा के बहुत पॉइंट हैं. जैसे हाथ में एक्यूप्रेशर के पॉइंट्स होते हैं. इसे साबित करता कोई भी वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है.

अभीज्ञ ने अपने वीडियो में दो और दावे किए हैं. ये किसी की अपनी राय भी हो सकती है. लेकिन ये प्रभावशाली दावे हैं, इसलिए यहां लिख रहे हैं-
– नास्तिकता दुनिया की समस्याओं की जड़ है. और पूरी दुनिया में ये फैला हुआ है
– ज्योतिष निदान, भविष्यवाणी और इलाज करने वाला टूल है. दुनिया में ज्योतिष से कुछ भी ठीक किया जा सकता है.

इन दोनों दावों को नक़ारने और पक्ष लेने के लिए कई तरह के तर्क आ सकते हैं. ये निजी इच्छा पर निर्भर करता है. हां, अगर वैज्ञानिक पक्ष ढूंढने जाएंगे, तो अभीज्ञ के दावों के पक्ष में न के बराबर तथ्य होंगे.

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में किए दावों का कोई आधार नहीं.

फेसबुक पर अभीज्ञ का एक 9 मिनट का वीडियो भी वायरल हो रहा है. इसमें अभीज्ञ दावा कर रहे हैं कि कोरोना का इलाज मंत्रों से हो जाएगा. उनका दावा है कि मंत्र उस फ्रीक्वेंसी पर काम करते हैं, जहां वायरस मर जाता है.

अभीज्ञ के इन दावों का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है. आवाज़ की फ्रीक्वेंसी से वायरस नहीं मरता. न ही तालियां बजाने से. 22 मार्च को तालियां-थालियां बजाने के बाद भी ऐसे दावे वायरल हुए थे कि इससे कोरोना मर जाएगा. उस वक्त सरकारी सूचना विभाग PIB ने इस दावों को नकारा था.

PIB Fact Check
 
@PIBFactCheck
 
 

NO ! The vibration generated by clapping together will NOT destroy infection: The clapping initiative at 5pm is to express gratitude towards the Emergency staff working selflessly to counter

 
1,661 people are talking about this
 
 
 

इसके अलावा ‘दी लल्लनटॉप’ ऐसे ढेर सारे दावों की पोल खोल चुका है. उन्हें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. इसके अलावा हमने 25 उन तरीकों की सूची तैयार की है जिनसे कोरोना नहीं रुकता. नीचे क्लिक करके आप वो भी पढ़ सकते हैं.

पड़ताल: ये 25 नुस्खे आपको कोरोना वायरस से नहीं बचा सकते हैं

नतीजा

तस्वीर और वीडियो के दिखाकर अभीज्ञ आनंद नाम के 14 साल के बच्चे के कोरोना की भविष्यवाणी करने का दावा झूठ है. अभीज्ञ ने 22 अगस्त, 2019 को अपलोड किए गए वीडियो में भारत-पाक और अमेरिका-ईरान के युद्ध का दावा किया था. कोरोना या किसी भी महामारी का ज़िक्र तक नहीं है.