ALL Event Social Knowledge Career Religion Sports Politics video Astrology Article
तहसीलदार पर भ्रष्टाचार का आरोप, गलत तरीके से कर दिया कृषि भूमि का नामांतरण
February 6, 2020 • अरुण भोपाळे • Event

कलेक्टर को की शिकायत- आज 6 फरवरी 2020 तय थी आॅर्डर की तारीख, किंतु तहसीलदार ने समस्त वरिष्ठ न्यायालयों को धता बताकर आॅर्डर की छायाप्रति पर ही पूर्ववृत्ति आदेश 31.01.2020 के पहले अमल आदेश जारी कर दिया


उज्जैन। महिदपुर के ग्राम इटावा निवासी पंकज पांचाल एवं आशीष पांचाल ने महिदपुर के तहसीलदार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। दोनों भाईयों ने कलेक्टर को की शिकायत में कहा कि तहसीलदार ने भ्रष्टाचार कर गलत तरीके से उनकी कृषि भूमि का नामांतरण कर दिया।
पंकज एवं आशीष पांचाल ने शिकायत में कहा कि ग्राम इटावा में स्थित कृषि भूमि सर्वे नंबर 406/1 एवं 406/2 का तहसीलदार द्वारा भ्रष्टाचार कर गलत तरीके से नामांतरण किया गया। यह कृषि भूमि हमारे नाम वर्ष 2013 से है, हमें सूचना दिए बिना ही तहसीलदार महिदपुर द्वारा नाम कम करने के लिए अमल आदेश जारी कर दिया था, उसकी अपील अनुविभागीय अधिकारी महिदपुर को की गई थी। अपील प्रचलन में रहते हुए तहसीलदार द्वारा नियम विरूध्द अमल आदेश जारी किया था जिसकी अपील अनुविभागीय अधिकारी को की गई थी। जिसमें अंतिम निराकरण तक के लिए स्थगन दिया गया था। स्थगन के विरूध्द मांगीलाल, दामोदर पिता हरिराम निवासी हिड़ी द्वारा निगरानी अपर कलेक्टर के न्यायालय में प्रस्तुत की थी। जिसमें आदेश होकर मूल फाईल पुनः अनुविभागीय अधिकारी महिदपुर को भेजी गई जिसमें अंतिम तर्क की तारीख 4 फरवरी 2020 एवं आॅर्डर दिनांक 6 फरवरी 2020 तय की गई है। किंतु तहसीलदार ने समस्त वरिष्ठ न्यायालयों को धता बताकर आॅर्डर की छायाप्रति पर ही पूर्ववृत्ति आदेश 31.01.2020 के पहले अमल आदेश जारी कर दिया एवं तत्काल पटवारी ग्राम इटावा द्वारा अमल कर पावती बनाकर राजस्व रेकार्ड में अमल कर दिया। कलेक्टर को शिकायत कर तहसीलदार द्वारा भारी भ्रष्टाचार कर गलत तरीके से जारी किया गया नामांतरण निरस्त करने की मांग की।