ALL Event Social Knowledge Career Religion Sports Politics video Astrology Article
उज्जैन में 1986 में दिया था नारा- राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे
July 28, 2020 • अरुण भोपाळे • Religion


नई दिल्ली। रामजन्मभूमि आंदोलन को लेकर गूंजने वाला नारा- राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे, यह नारा उज्जैन में एक शिविर में सबसे पहले गूंजा था। बजरंग दल के एक शिविर में १९८६ में बाबा सत्यनारायण मौर्य ने यह नारा दिया था, जो बाद में सभी रामभक्तों की जुबान पर चढ़ गया।
बाबा सत्यनारायण मौर्य ने एनबीटी से बात करते हुए बताया कि 1986 में वह मध्यप्रदेश के राजगढ़ से एम कॉम की पढ़ाई कर रहे थे। तब उज्जैन में बजरंग दल का शिविर लगा। मौर्य ने बताया कि मैं भी उस शिविर में शामिल था। शिविर में शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम होते हैं। उसी कार्यक्रम में मैंने राम जन्मभूमि को लेकर यह नारा पहली बार दिया। राम लला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे।
उन्होंने कहा कि इसके बाद यह नारा अलग-अलग जगह स्वयंसेवकों ने लगाया और फिर यह रामजन्मभूमि आंदोलन का एक अहम नारा बन गया। 55 साल के बाबा मौर्य ने कहा कि 6 दिसंबर, 1992 को अयोध्या के कार्यक्रम में सबसे पहले मंच संचालन उन्होंने ही किया। वह तब आंदोलन के प्रचार प्रमुख थे और पूरे अयोध्या में उन्होंने वॉल राइटिंग की जिसमें श्रीराम और हनुमान के चित्रों के साथ नारे भी शामिल थे। राम जन्मभूमि आंदोलन को लेकर उनके गाने की कैसेट भी तब खूब चली थी।
उन्होंने बताया कि अयोध्या में मंदिर परिसर में अयोध्या शोध संस्थान की तरफ से प्रदर्शनी लगाने की भी तैयारी है। पहले यह प्रदर्शनी 5 अगस्त को लगनी थी लेकिन सुरक्षा कारणों से अब बाद में लगेगी। प्रदर्शनी चार भागों में होगी जिसका एक हिस्सा 'जन्मभूमि का इतिहास' विषय पर प्रदर्शनी बाबा मौर्य ही लगाएंगे। इसमें चित्रों और पेंटिंग के जरिए इतिहास बताया जाएगा। इसके अलावा राम की विश्व यात्रा, पुरातात्विक प्रमाण और राम मंदिर मॉडल की प्रदर्शनी लगेगी। (साभार : नवभारतटाइम्स)